Home Trending यासीन मलिक ने कबूल किये सारे गुनाह, जानिए क्या है पूरी कहानी

यासीन मलिक ने कबूल किये सारे गुनाह, जानिए क्या है पूरी कहानी

99
0
यासीन मलिक ने कबूल किये सारे गुनाह, जानिए क्या है पूरी कहानी
यासीन मलिक ने कबूल किये सारे गुनाह, जानिए क्या है पूरी कहानी

जम्मू कश्मीर के लिबरेशन फ्रंट के चीफ यासीन मलिक को दिल्ली कोर्ट गुरुवार को टेरर फंडिंग के केस में दोषी ठहराया है और यासीन ने कबूल कर लिया है की वह जम्मू कश्मीर में आतंकी काम में शामिल था.

यासीन मलिक ने कबूल किये सारे गुनाह, जानिए क्या है पूरी कहानी
यासीन मलिक ने कबूल किये सारे गुनाह, जानिए क्या है पूरी कहानी

13 अक्टूबर 1983 में जम्मू कश्मीर के क्रिकेट स्टेडियम में भारत और वेस्ट इंडीज के बिच मैच चल रहा था. लंच ब्रेक में कुछ लोग पिच के पास जाकर कुछ हरकते करने लगे. इस पुरे मामले में 12 लोगो पर केस हुवा यह पूरा कांड जिस संगठन ने किया था उसका नाम था ताला पार्टी. 

यासीन मलिक ने कबूल किये सारे गुनाह, जानिए क्या है पूरी कहानी
यासीन मलिक ने कबूल किये सारे गुनाह, जानिए क्या है पूरी कहानी

उसके दो साल बाद 13 जुलाई 1985 को ख्वाजा बाजार में नेशनल कॉन्फ्रेंस की रेल्ली हो रही थी. इस रेल्ली में 70 लड़के आये और फटाके फोड़ दिए सबको लगा की बम्ब विस्फोट हुवा है. इस दौरान नेशनल कॉन्फ्रेंस ने एक लड़के को पकड़ लिया जिसका नाम था यासीन मलिक.

यासीन मलिक ने कबूल किये सारे गुनाह, जानिए क्या है पूरी कहानी
यासीन मलिक ने कबूल किये सारे गुनाह, जानिए क्या है पूरी कहानी

बादमे यासीन मालिक ने जम्मू कश्मीर में आतंक को बढ़ाया और कश्मीर की आज़ादी की वकालत करता रहा. बम्ब और गन से सबको डराता भी था और अब उसी यासीन मालिक की सज्जा का ऐलान होने वाला है. यासीन मालिक पर आतंकी संगठन से जुड़ने और कश्मीर का माहौल ख़राब करने के जुर्म में सज्जा होने वाली है  

मलिक पर आतंक की काम करने पर धारा 15 , आतंकी फंडिंग पर धारा 17, आतंकी गतिविधि पर धारा 18, आतंकवादी सांगठन में जुड़ें पर धारा 20, आपराधिक साजिश पर आईपीसी धारा 120-B और राजद्रोह पर धारा 124-B पर केस दर्ज हुए है 2017 में यासीन मलिक ने खुद सब गुनाह कबूल किये थे.

यासीन मलिक ने कबूल किये सारे गुनाह, जानिए क्या है पूरी कहानी
यासीन मलिक ने कबूल किये सारे गुनाह, जानिए क्या है पूरी कहानी

यासीन मलिक अभी तिहाड़ जेल में बंध है. यासीन सिर्फ 17 साल की उम्र में पहली बार जेल गया था.

यासीन मलिक का जन्म 3 अप्रैल 1966 को श्रीनगर के मयसूमा में हुवा था. मयसूमा बहुत हु भीड़भाड़ वाला इलाका है और वह लाल चौक के पास है.

यासीन का दावा है की उसने 80 के दशक में भारतीय सेना द्वारा किये गए जुल्म को देखा है और इस कथित हिंसा का बदला लेने के लिए यासीन ने एक संगठन बनाया और नाम रखा ताला पार्टी. 11 फेब्रुअरी 1984 में आतंकी मक़बूल भट को फांसी की सजा सुनवाई गयी और ताला पार्टी ने इस बात पर बहुत विरोध किया. इस मामले में यासीन को गिरफ्तार करके 4 महीने की जेल हो गयी. 

यासीन मलिक ने कबूल किये सारे गुनाह, जानिए क्या है पूरी कहानी
यासीन मलिक ने कबूल किये सारे गुनाह, जानिए क्या है पूरी कहानी

जेल से निकलने के बाद यासीन ने अपने संगठन का नाम बदलकर इस्लामिक स्टूडेंट लीग रख दिया. अशफाक मजीद वानी, जावेद मीर और अब्दुल हामीद शेख जैसे आतंकी इसी संगठन के लोग थे.

 

Previous articleआईपीएल में एबी डिविलियर्स 2023 में करेंगे वापसी, जानिए कोनसी टीम की तरफ से खेलेंगे
Next articleटेक्सस शूटिंग, कितना भयानक था अंदर का माहौल..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here